Source: 
ETV Bharat
Author: 
Date: 
05.02.2022
City: 
Noida

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के पहले चरण में 615 उम्मीदवारों ने पर्चा दाखिल किया है. एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स (ADR) इन उम्मीदवारों के हलफनामे के आधार पर उनके बारे में जानकारी दे रहा है. एडीआर की रिपोर्ट में यह सामने आया था कि इन उम्मीदवारों में से 156 के खिलाफ आपराधिक मामले दर्ज हैं. इनमें से 280 उम्मीदवार करोड़पति हैं. अब यह सामने आया है कि उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के पहले चरण के उम्मीदवारों में से 62 सिर्फ आठवीं कक्षा तक पढ़े हैं, जबकि 15 ने खुद को निरक्षर बताया है.

एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स (ADR) ने उत्तर प्रदेश के 11 जिलों में 58 विधानसभा सीटों से राजनीतिक दलों और निर्दलीय उम्मीदवारों के 615 उम्मीदवारों के हलफनामों का विश्लेषण किया है. एडीआर के मुताबिक यूपी चुनाव के पहले फेज के उम्मीदवारों में 70 से अधिक दावेदारों की आयु 60 वर्ष से अधिक है. एडीआर के आंकड़ों के अनुसार, 615 में से15 उम्मीदवार निरक्षर हैं, जबकि 38 ने खुद को साक्षर बताया है. 10 उम्मीदवारों ने पांचवी कक्षा तक पढ़ाई की है. 65 ने क्लास-10 और 102 ने क्लास-12 तक पढ़ाई की है.

एडीआर ने कहा कि 100 कैंडिडेट के पास ग्रैजुएशन की डिग्री है, जबकि 78 प्रफेशनल ग्रैजुएट हैं. 108 कैंडिडेट ने पोस्ट ग्रैजुएशन तक की पढ़ाई की है. 18 पीएचडी और सात डिप्लोमा होल्डर हैं. 12 उम्मीदवारों ने अपनी पढ़ाई का विवरण नहीं दिया है.

एडीआर रिपोर्ट के मुताबिक, 239 उम्मीदवारों (39 प्रतिशत) ने अपनी शैक्षणिक योग्यता क्लास पांच और 12वीं के बीच घोषित की है, जबकि 304 उम्मीदवारों (49 प्रतिशत) ने स्नातक या उससे ऊपर की शैक्षणिक योग्यता घोषित की है.

उम्र के हिसाब से किए गए विश्लेषण के अनुसार, 214 उम्मीदवारों (35 प्रतिशत) की आयु 25 से 40 वर्ष है. अपने हलफनामे में 328 उम्मीदवारों (53 प्रतिशत) ने अपनी उम्र 41 से 60 वर्ष के बीच बताई है. 73 उम्मीदवारों (12 प्रतिशत) की आयु 61 से 80 वर्ष के बीच है.

बता दें कि पहले चरण में 58 विधानसभा क्षेत्रों में आगरा, अलीगढ़, बागपत, बुलंदशहर, गौतम बौद्ध नगर, गाजियाबाद, हापुड़, मथुरा, मेरठ, मुजफ्फरनगर और शामली जिलों में मतदान होने वाला है. चुनाव के नतीजे 10 मार्च को घोषित किए जाएंगे.

© Association for Democratic Reforms
Privacy And Terms Of Use
Donation Payment Method