Source: 
Jubilee Post
https://www.jubileepost.in/big-revelation-in-adr-report-know-who-is-the-richest-party/
Author: 
जुबिली न्यूज डेस्क
Date: 
29.02.2024
City: 

एडीआर की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि छह राजनीतिक दलों ने साल 2022-23 की अपनी आय घोषित कर दी है. जो 3077 करोड़ रुपये है. इसमें से लगभग 2361 करोड़ रुपये बीजेपी की आय है. एडीआर के अनुसार, वित्त वर्ष 2022-23 में छह राष्ट्रीय दलों की कुल आय का 76.7 फ़ीसदी हिस्सेदारी बीजेपी की है.

देश के 6 राष्ट्रीय दलों ने वित्त वर्ष 2022-23 के दौरान अपनी कुल आय करीब 3077 करोड़ रुपये घोषित की है. उम्मीद के मुताबिक इसमें सबसे ज्यादा 2361 करोड़ रुपये का हिस्सा भारतीय जनता पार्टी का है. यानी एडीआर की रिपोर्ट के मुताबिक बीजेपी इस हिसाब से देश की सबसे अमीर राजनीतिक पार्टी है. आय के मामले में कांग्रेस पार्टी की बात करें तो ये दूसरे नंबर पर है, जिसने वित्त वर्ष 2022-23 के दौरान करीब 452 करोड़ रुपये की आय घोषित की है.

खास बात ये है कि कांग्रेस का उस साल का खर्च आमदनी से ज्यादा रहा है. यानी देश की प्रमुख विपक्षी पार्टी घाटे में है, जबकि बीजेपी ने अपनी कमाई का 60 फीसदी हिस्सा भी खर्च नहीं किया है. यह जानकारी एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स (ADR) की ताजा रिपोर्ट में दी गई है.

76.73% हिस्सा अकेले बीजेपी का

ADR की बुधवार को जारी रिपोर्ट में बताया गया है कि वित्त वर्ष 2022-23 के दौरान 6 राष्ट्रीय दलों की कुल सम्मिलित आय में अकेले बीजेपी का हिस्सा 76.73 प्रतिशत है. वहीं, कमाई के लिहाज से दूसरे नंबर पर रही कांग्रेस ने 2022-23 में कुल 452.375 करोड़ रुपये की आय घोषित की है, जो 6 राष्ट्रीय दलों की कुल आय का 14.70 प्रतिशत है. एडीआर की रिपोर्ट के मुताबिक भाजपा और कांग्रेस के अलावा बीएसपी, आम आदमी पार्टी, सीपीएम और नेशनल पीपुल्स पार्टी ने भी अपनी आय घोषित की है.

बीजेपी के साथ इस पार्टी की भी आय बढ़ी 

एडीआर की रिपोर्ट के मुताबिक वित्त वर्ष 2021-22 और 2022-23 के दरमियान बीजेपी की आय में 23.15 प्रतिशत का इजाफा हुआ. वित्त वर्ष 2021-22 में पार्टी की आय 1917.12 करोड़ रुपये थी, जो 443.72 करोड़ रुपये बढ़कर वित्त वर्ष 2022-23 में 2360.84 करोड़ रुपये हो गई. वहीं एनपीपी की आय वित्त वर्ष 2021-22 के दौरान 47.20 लाख रुपये थी, जो 1502.12 प्रतिशत या 7.09 करोड़ रुपये बढ़कर वित्त वर्ष 2022-23 में 7.562 करोड़ रुपये हो गई. आम आदमी पार्टी की आय वित्त वर्ष 2021-22 के दौरान 44.539 करोड़ रुपये थी, जो वित्त वर्ष 2022-23 में 91.23 प्रतिशत या 40.631 करोड़ रुपये बढ़कर 85.17 करोड़ रुपये हो गई.

कांग्रेस, सीपीएम, बीएसपी की आय घटी 

एडीआर की रिपोर्ट में चुनाव आयोग के पास जमा किए गए रिकॉर्ड का हवाला देते हुए बताया गया है कि वित्त वर्ष 2021-22 और 2022-23 के बीच कांग्रेस की आय में 16.42 प्रतिशत या 88.90 करोड़ रुपये की गिरावट आई है. इसी दौरान सीपीएम की आय 20.57 करोड़ रुपये यानी 12.68 प्रतिशत और बीएसपी की आमदनी 14.50 करोड़ रुपये या 33.14 प्रतिशत घटी है. 

किसने-कितना खर्च किया

रिपोर्ट में दिया गया एक दिलचस्प आंकड़ा यह भी है कि बीजेपी ने वित्त वर्ष 2022-23 के दौरान 2360.84 करोड़ रुपये की कुल घोषित आय में से 1361.684 करोड़ रुपये खर्च किए, जो उसकी कुल आय का 57.68 प्रतिशत है. वहीं, कांग्रेस ने 452.37 करोड़ रुपये की कुल आय की तुलना में 467.13 करोड़ रुपये खर्च किए. इसी तरह, आम आदमी पार्टी ने अपनी 85.17 करोड़ रुपये की कुल आय के मुकाबले 102.051 करोड़ रुपये खर्च किए, वहीं, सीपीएम ने 141.66 करोड़ रुपये की कुल आय में से 106.067 करोड़ रुपये खर्च किए.

">
© Association for Democratic Reforms
Privacy And Terms Of Use
Donation Payment Method