Source: 
Author: 
Date: 
10.02.2021
City: 

बिहार के 93 फीसदी मंत्री करोड़पति हैं। 28 मंत्रियों की औसत संपत्ति 4.46 करोड़ रुपये है। जबकि वर्ष 2019-20 के केंद्रीय सांख्यिकी संगठन द्वारा एक फरवरी, 2021 को जारी आंकड़े के अनुसार बिहार के आमलोगों की वार्षिक औसत आय 50 हजार 735 रुपये है। सबसे अधिक संपत्ति मंत्री संजय कुमार झा ने घोषित की है। उन्होंने 22.37 करोड़ रुपये की संपत्ति घोषित की है। जबकि सबसे कम संपत्ति मंत्री जमा खान की है, जिन्होंने 30.04 लाख रुपये की संपत्ति घोषित की है। वहीं, 20 मंत्रियों ने देनदारी घोषित की है, जिनमें मंत्री मुकेश सहनी के 1.54 करोड़ रुपये की सर्वाधिक देनदारी घोषित की है।

एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स (एडीआर) और बिहार इलेक्शन वॉच ने बुधवार को राज्य मंत्रिपरिषद के 31 सदस्यों में 28 मंत्रियों के शपथपत्र के विश्लेषण के जारी रिपोर्ट में मंत्रियों के औसत आय की जानकारी दी। इस रिपोर्ट में मंत्री रामसूरत कुमार के शपथ पत्र स्पष्ट नहीं होने और अशोक चौधरी व जनक राम के विधानसभा या विधान परिषद के सदस्य नहीं होने के कारण उन्हें विश्लेषण में शामिल नहीं किया गया है। ये जानकारियां विधानसभा चुनाव व विधान परिषद चुनाव से पहले दिए गए शपथ पत्रों पर आधारित है।
64 फीसदी मंत्रियों पर आपराधिक मामले दर्ज रिपोर्ट के अनुसार राज्य के 64  फीसदी मंत्रियों (18) पर आपराधिक मामले दर्ज हैँ जबकि 50 फीसदी (14)  मंत्रियों पर गंभीर अपराध के मामले दर्ज हैं। जदयू के 27 फीसदी, भाजपा के 57 फीसदी, हम के सौ फीसदी, विकास इंसान पार्टी के सौ फीसदी व निर्दलीय सौ फीसदी मंत्रियों के खिलाफ गंभीर अपराध के मामले दर्ज है।
57 फीसदी मंत्री स्नातक हैं राज्य के 57 फीसदी मंत्रियों ने स्नातक या उससे अधिक की शिक्षा ग्रहण की है जबकि 39 फीसदी मंत्री 8 वीं से 10 वीं तक की शिक्षा प्राप्त है। मंत्री शाहनवाज हुसैन ने अपनी शिक्षा इलेक्ट्रॉनिक्स में राष्ट्रीय व्यापार प्रमाण पत्र में डिप्लोमा घोषित की है। वहीं, 28 में तीन महिला मंत्री है।

© Association for Democratic Reforms
Privacy And Terms Of Use
Donation Payment Method