Source: 
ETV Bharat
https://www.etvbharat.com/hi/!bharat/mp-female-candidate-less-than-male-candidate-in-madhya-pradesh-22-women-candidates-in-mp-lok-election-2024-mpn24050205365
Author: 
ETV Bharat Madhya Pradesh Team
Date: 
02.05.2024
City: 
Bhopal

एमपी के चुनाव में 1986 के बाद ये पहला चुनाव है कि जब सबसे कम महिला उममीदवार मैदान में हैं. 1986 में जब एमपी छत्तीसगढ़ एक था, तब चालीस सीटों पर चुनाव था. तब करीब 23 महिला उम्मीदवार मैदान में थी. इस बार केवल 22 महिला उम्मीदवार मैदान में हैं.

लोकसभा चुनाव में मध्य प्रदेश की 29 सीटों पर मतदाताओं में आधी आबादी महिला मतदाताओं की है. पिछले चुनावों में महिला मतदान प्रतिशत लगातार बढ़ा है, लेकिन महिलाओं के चुनाव मैदान में उतरने की संख्या बहुत ज्यादा नहीं बढ़ी. इस बार के चुनाव में मध्य प्रदेश की 29 सीटों पर साल 1989 के बाद सबसे कम 22 महिला उम्मीदवार ही चुनाव मैदान में उतरी हैं. 1989 के चुनाव मैदान में सिर्फ 21 महिला उम्मीदवारों ने चुनाव लड़ा था. हालात यह है कि बीजेपी और कांग्रेस जैसी बड़ी पार्टियां भी महिला उम्मीदवार को लेकर कंजूसी करती दिखाई देती हैं. प्रदेश में इस बार कुल उम्मीदवारों की संख्या 369 है, इस लिहाज से पुरूष उम्मीदवारों के मुकाबले सिर्फ 6 प्रतिशत महिलाएं ही चुनाव में उतरी हैं.

चरणवार महिला उम्मीदवार कितनी है ?

मध्य प्रदेश की 29 सीटों पर चार चरणों में हो रहे चुनावों में कुल 369 उम्मीदवार चुनाव मैदान में उतरे हैं. इसमें से दो चरणों में 12 सीटों पर 168 उम्मीदवारों की किस्मत ईवीएम में कैद हो चुकी है. इसमें 10 महिला उम्मीदवार भी शामिल हैं.

पहला चरण

पहले चरण में 6 लोकसभा सीटों सीधी, शहडोल, जबलपुर, मंडला, बालाघाट और छिंदवाड़ा सीट पर वोट डाले जा चुके हैं. इन सीटों पर कुल 6 महिला उम्मीदवार चुनाव मैदान में थे. इसमें से 2 निर्दलीय महिला उम्मीदवार और बाकी जनसंचार दल, छत्तीसगढ़ विकास गंगा, राष्टीय दल. उधर शहडोल सीट से बीजेपी ने हिमाद्री सिंह और बालाघाट सीट से बीजेपी ने भारती पारधी को मैदान में उतारा.

दूसरा चरण

दूसरे चरण में 6 लोकसभा सीटों टीकमगढ़, दमोह, खजुराहो, सतना, रीवा, होशंगाबाद पर वोट डाले जा चुके हैं. दूसरे चरण में कुल 80 उम्मीदवार चुनाव मैदार में उतरे. इसमें महिला उम्मीदवारों की संख्या सिर्फ 4 है. इसमें एक को कांग्रेस ने रीवा सीट से नीलम अभय मिश्रा को टिकट दिया, जबकि 1 निर्दलीय और 2 न्यायधर्मसभा, राष्ट्रीय जनसंचार दल के टिकट पर चुनाव में उतरी.

तीसरा चरण

लोकसभा के तीसरे चरण में प्रदेश की 9 सीटों मुरैना, भिंड, ग्वालियर, गुना, सागर, विदिशा, भोपाल, राजगढ़ और बैतूल सीट पर 6 मई को वोट डाले जाने हैं.
इन सीटों पर कुल 127 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं. इसमें महिला उम्मीदवारों की संख्या 9 है. बीजेपी ने भिंड और सागर से महिला उम्मीदवार चुनाव मैदान में उतारा है. जबकि 2 महिला उम्मीदवार निर्दलीय चुनाव लड़ रहीं हैं. बाकी अन्य राष्ट्रीय समाज पक्ष, परिवर्तन पाटी्र ऑफ इंडिया, सोशलिस्ट यूनिटी सेंटर ऑफ इंडिया, पिछड़ा समाज पार्टी यूनाइटेड, सपाक्स पार्टी से चुनाव में उतरी हैं.

चौथा चरण

लोकसभा के चौथे चरण में प्रदेश की 8 सीटों देवास, उज्जैन, मंदसौर, रतलाम, धार, इंदौर, खरगौर, खंडवा सीट से कुल 74 उम्मीदवार मैदान में हैं. जिसमें महिलाएं सिर्फ 5 हैं. इनमें बीजेपी ने धार से सावित्री ठाकुर और रतलाम से अनीता नागर को टिकट दिया है. जबकि 2 महिलाएं निर्दलीय और एक अखंड भारत साम्राज्य पार्टी से मैदान में हैं.

22 WOMEN CANDIDATES IN MP

1989 के बाद सबसे कम महिला उम्मीदवार

प्रदेश में किसी भी उम्मीदवार की जीत-हार में महिला मतदाता महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है. पिछले विधानसभा चुनाव में बीजेपी की जीत में 76.03 फीसदी वोटिंग कर महिला मतदाताओं को अहम भागीदारी निभाई. इसके बाद भी प्रमुख पार्टियां महिला उम्मीदवारों को टिकट देने में कंजूसी दिखाती है. 1957 से लेकर 2019 तक मध्यप्रदेश में 377 महिला उम्मीदवार चुनाव मैदान में उतरी, जिसमें से 59 जीत दर्ज कर सकी. इस बार के लोकसभा चुनाव में प्रदेश में सिर्फ 22 महिला उम्मीदवार मैदान में हैं. 1989 के बाद यह सबसे कम आंकड़ा है. बीजेपी के टिकट पर 6 महिलाएं चुनाव में उतरी हैं, जबकि कांग्रेस ने गठबंधन की उम्मीदवार सहित 2 महिलाओं को टिकट दिया. इसमें से खजुराहो उम्मीदवार मीरा यादव का नामांकन निरस्त हो चुका है.

© Association for Democratic Reforms
Privacy And Terms Of Use
Donation Payment Method