Source: 
Aaj Tak
https://www.aajtak.in/explained/story/bjp-congress-aam-aadmi-party-income-expenditure-political-parties-source-of-income-adr-ntc-pryd-1889466-2024-02-29
Author: 
aajtak.in
Date: 
29.02.2024
City: 
New Delhi

एडीआर की रिपोर्ट के मुताबिक, 2022-23 में बीजेपी, कांग्रेस और आम आदमी पार्टी समेत 6 राष्ट्रीय पार्टियों ने 3 हजार करोड़ रुपये से ज्यादा की कमाई की है. सबसे ज्यादा कमाई बीजेपी ने की है. उसके बाद कांग्रेस है.

बस कुछ दिन और फिर चुनावी माहौल शुरू हो जाएगा. जगह-जगह होर्डिंग्स पर उम्मीदवारों के विज्ञापनों की भरमार होगी.

पर सवाल है कि राजनीतिक पार्टियां कमाती कितना हैं? चुनाव और राजनीतिक पार्टियों पर नजर रखने वाली संस्था एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स (ADR) की रिपोर्ट के मुताबिक, 2022-23 में देशभर की छह राष्ट्रीय पार्टियों ने 3,077 करोड़ रुपये से ज्यादा की कमाई की.

ये 6 राष्ट्रीय पार्टियां- बीजेपी, कांग्रेस, आम आदमी पार्टी, बसपा, सीपीएम और नेशनल पीपुल्स पार्टी (एनपीपी) हैं. इसमें से 76% की कमाई बीजेपी की है.

रिपोर्ट के मुताबिक, 2022-23 में बीजेपी ने 2,061 करोड़ रुपये से ज्यादा की कमाई की है. एक साल में बीजेपी की कमाई 77% तक बढ़ गई. 2021-22 में बीजेपी ने 1,917 करोड़ रुपये की कमाई की थी.

बीजेपी के बाद सबसे ज्यादा कमाई आम आदमी पार्टी की बढ़ी. आम आदमी पार्टी ने 2021-22 में 45 करोड़ रुपये कमाए थे. जबकि, 2022-23 में उसकी कमाई 91% तक बढ़कर 85 करोड़ रुपये हो गई.

हालांकि, बीजेपी के बाद सबसे रईस पार्टी कांग्रेस है. कांग्रेस ने 2022-23 में करीब 452 करोड़ रुपये कमाए. दिलचस्प बात ये है कि बीजेपी और आम आदमी पार्टी के उलट कांग्रेस की कमाई कम हुई है. 2021-22 में कांग्रेस ने 541 करोड़ रुपये कमाए थे. यानी, एक साल में उसकी कमाई 16% कम हो गई.

कहां-कहां से कमाया?

सुप्रीम कोर्ट ने हाल ही में इलेक्टोरल बॉन्ड स्कीम को 'असंवैधानिक' बताते हुए रद्द कर दिया था. राजनीतिक पार्टियों की आधी से ज्यादा कमाई इसी से होती है.

ऑडिट रिपोर्ट की मानें तो बीजेपी की 55% कमाई इलेक्टोरल बॉन्ड से ही हुई. बीजेपी को 1,294 करोड़ रुपये चुनावी बॉन्ड के जरिए मिले. वहीं, कांग्रेस को 38% यानी 171 करोड़ रुपये चुनावी बॉन्ड से आमदनी हुई. आम आदमी पार्टी की भी 45 करोड़ यानी 53% कमाई इसी स्कीम से हुई.

कुल मिलाकर 6 राष्ट्रीय पार्टियों को 2022-23 में 1,511 करोड़ रुपये चुनावी बॉन्ड से मिले. इसके अलावा 1,034 करोड़ रुपये चंदे और 532 करोड़ रुपये दूसरे जरियों से मिले हैं.

कांग्रेस-AAP ने कमाई से ज्यादा खर्च किया

हर राजनीतिक पार्टी को हर साल अपनी कमाई और खर्च को लेकर एक ऑडिट रिपोर्ट चुनाव आयोग को देनी होती है. इसमें पार्टियों को बताना होता है कि उन्होंने कहां से कितना कमाया और कहां कितना खर्च किया.

रिपोर्ट के मुताबिक, कांग्रेस और आम आदमी पार्टी ने अपनी आमदनी से ज्यादा खर्चा किया. 2022-23 में कांग्रेस ने अपनी कमाई से करीब 15% ज्यादा खर्च किया. कांग्रेस ने 467 करोड़ रुपये से ज्यादा का खर्चा किया.

इसी तरह आम आदमी पार्टी ने भी अपनी कमाई से 17% ज्यादा खर्च किया. उसने 2022-23 में 102 करोड़ रुपये से ज्यादा खर्च किए. वहीं, बीजेपी ने अपनी कमाई का लगभग 58% ही खर्च किया. उसने 1,362 करोड़ रुपये खर्च किए.

बीजेपी ने 80% खर्च चुनाव पर किया

चुनाव प्रचार पर खर्च करने में बीजेपी सबसे आगे हैं. बीजेपी ने पिछले साल जितना खर्च किया, उसमें से 80% से ज्यादा चुनाव प्रचार पर किया. 2022-23 में बीजेपी ने 1,092 करोड़ रुपये से ज्यादा खर्च किए. 

वहीं, कांग्रेस ने अपने कुल खर्च का लगभग 41% यानी 193 करोड़ ही चुनाव पर खर्चा किया. जबकि, आम आदमी पार्टी ने 36 करोड़ रुपये चुनाव प्रचार पर लगाए. यानी, अपने कुल खर्च का करीब 36 फीसदी.

इसके अलावा राजनीतिक पार्टियां प्रशासनिक काम, अपने कर्मचारियों को सैलरी देने और बाकी दूसरे कामों पर खर्च करती हैं.

© Association for Democratic Reforms
Privacy And Terms Of Use
Donation Payment Method