Source: 
Janata Samachar
https://hi.janatasamachar.in/adr-2022-23-%E0%A4%B0%E0%A4%BE%E0%A4%B7%E0%A5%8D%E0%A4%9F%E0%A5%8D%E0%A4%B0%E0%A5%80%E0%A4%AF-%E0%A4%A6%E0%A4%B2%E0%A5%8B%E0%A4%82-%E0%A4%A8%E0%A5%87-%E0%A4%98%E0%A5%8B%E0%A4%B7%E0%A4%BF%E0%A4%A4-%E0%A4%95%E0%A5%80-3077-%E0%A4
Author: 
Date: 
28.02.2024
City: 

National parties declared income of Rs 3077 crore in 2022-23 : देश के 6 राष्ट्रीय दलों ने वित्तीय वर्ष 2022-23 में लगभग 3077 करोड़ रुपए की अपनी कुल आय घोषित की है, जिसमें भारतीय जनता पार्टी को सबसे अधिक यानी करीब 2361 करोड़ रुपए मिले। वित्तीय वर्ष 2022-23 के दौरान सत्तारूढ़ भाजपा की आय 6 राष्ट्रीय दलों की कुल आय का 76.73 प्रतिशत है।

कांग्रेस ने हासिल किया दूसरा स्थान : एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स (एडीआर) ने बुधवार को यह जानकारी दी। इसने कहा है कि वित्तीय वर्ष 2022-23 के दौरान सत्तारूढ़ भाजपा की आय छह राष्ट्रीय दलों की कुल आय का 76.73 प्रतिशत है। आय के मामले में 452.375 करोड़ रुपए के साथ कांग्रेस ने दूसरा स्थान हासिल किया है। कांग्रेस की आय छह राष्ट्रीय दलों की कुल आय का 14.70 प्रतिशत है।

भाजपा और कांग्रेस के अलावा बहुजन समाज पार्टी (BSP), आम आदमी पार्टी (AAP), नेशनल पीपुल्स पार्टी (NPP) और मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) ने भी अपनी आय घोषित की है। एडीआर की रिपोर्ट के मुताबिक, वित्तीय वर्ष 2021-22 और 2022-23 के बीच, भाजपा की आय वित्तीय वर्ष 2021-22 के दौरान 1917.12 करोड़ रुपए से 23.15 प्रतिशत बढ़कर वित्तीय वर्ष 2022-23 के दौरान 2360.844 करोड़ रुपए हो गई।

91.23 प्रतिशत बढ़ी आम आदमी पार्टी की आय : एनपीपी की आय वित्तीय वर्ष 2021-22 के दौरान 47.20 लाख रुपए से 7.09 करोड़ रुपए बढ़कर वित्तीय वर्ष 2022-23 के दौरान 7.56 करोड़ रुपए हो गई। इसी तरह, आम आदमी पार्टी की आय वित्तीय वर्ष 2021-22 के दौरान 44.53 करोड़ रुपए से 91.23 प्रतिशत बढ़कर वित्तीय वर्ष 2022-23 के दौरान 85.17 करोड़ रुपए हो गई।

निर्वाचन आयोग के पास जमा किए गए आंकड़ों के मुताबिक, वित्तीय वर्ष 2021-22 और वित्त वर्ष 2022-23 के बीच कांग्रेस, माकपा और बसपा की आय में क्रमशः 16.42 फीसदी (88.90 करोड़ रुपए), 12.68 फीसदी (20.57 करोड़ रुपए) और 33.14 फीसदी (14.50 करोड़ रुपए) की कमी आई है। (भाषा)

© Association for Democratic Reforms
Privacy And Terms Of Use
Donation Payment Method