Source: 
Kisan Tak
https://www.kisantak.in/news/trending/story/more-than-1700-candidates-are-in-the-fray-in-the-fourth-phase-998531-2024-05-04
Author: 
न‍िर्मल यादव
Date: 
04.05.2024
City: 
New Delhi

लोकसभा चुनाव के चौथे चरण में 13 मई को होने वाले मतदान की Nomination Process पूरी हो चुकी है. इस चरण में 10 राज्यों की 96 संसदीय सीटों पर चुनाव होना है. चुनाव आयोग द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक चौथे चरण के चुनाव वाली सीटों पर चुनाव लड़ने वालों में तेलंगाना और आंध्र प्रदेश में सबसे ज्यादा उत्साह देखने को मिला.

लोकसभा चुनाव के पहले दो चरण में 191 सीटों पर मतदान हो चुका है. तीसरे चरण में 12 राज्यों की 94 सीटों पर 7 मई को मतदान होना है. इससे पहले चौथे चरण में 10 राज्यों की 96 सीटों पर 13 मई को होने वाले मतदान के लिए नामांकन प्रक्रिया पूरी कर ली गई है. गौरतलब है कि 18 वीं लोकसभा के गठन के लिए 543 सीटों पर कुल 7 चरणों में मतदान होना है. Election Commission Of India के मुताबिक चौथे चरण में शामिल 96 लोकसभा सीटों पर चुनाव लड़ने के लिए 4 हजार से ज्यादा लोगों ने नामांकन प्रक्रिया में हिस्सा लिया था. इनमें 1700 से ज्यादा की दावेदारी को स्वीकार किया गया है. इस चरण में एक चौथाई से ज्यादा उम्मीदवार करोड़पति हैं. वहीं, 21 फीसदी उम्मीदवारों के विरुद्ध आपराध‍िक मुकदमे दर्ज हैं.

चौथे चरण का अखाड़ा तैयार

चौथे चरण के चुनाव में यूपी, एमपी, बिहार, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, जम्मू कश्मीर, झारखंड, ओड‍िशा, पश्चिम बंगाल और महाराष्ट्र की 96 सीटों के चुनाव में उम्मीदवारी के लिए जमकर नामांकन हुए. चुनाव आयोग द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक इन राज्यों में कुल 4264 लोगों ने नामांकन के लिए आवेदन किया था. इनमें से 1970 आवेदन सही पाए गए. हालांकि आयोग द्वारा उम्मीदवारी के लिए जिन आवेदकों का दावा सही पाया गया, उनमें से 253 उम्मीदवारों ने अपना दावा वापस ले लिया.

इस प्रकार चौथे चरण के चुनाव में शामिल 10 राज्यों की 96 सीटों पर अब कुल 1717 उम्मीदवार चुनाव मैदान में अपनी किस्मत आजमाने के लिए मुस्तैद हैं. इन सीटों पर उम्मीदवार अपने पक्ष में मतदाताओं को रिझाने के लिए जमकर Election Campaign कर रहे हैं. इस चरण में जम्मू कश्मीर की श्रीनगर, यूपी की इटावा, कन्नौज, खीरी और कानपुर, महाराष्ट्र की पुणे, औरंगाबाद और अहमदनगर, एमपी की उज्जैन, इंदौर और खरगौन तथा पश्चिम बंगाल की बीरभूमि और आसनसोल सीटें शामिल हैं.

यूपी की कन्नौज सीट से सपा अध्यक्ष अख‍िलेश यादव और किसान आंदोलन के दौरान विवादों में रहे गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा टेनी खीरी सीट से भाजपा के उम्मीदवार हैं. वहीं, एमपी में मालवा क्षेत्र का उज्जैन और इंदौर इलाका मुख्यमंत्री मोहन यादव का गृह क्षेत्र होने के कारण इस इलाके में उनकी प्रतिष्ठा दांव पर है. जबकि खरगौन में कांग्रेस के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष अरुण यादव इस इलाके में अपनी पार्टी के उम्मीदवारों को जिताने के लिए भरपूर मेहनत कर रहे हैं.

उम्मीदवारी में तेलंगाना सबसे आगे

चौथे चरण में मतदान वाली सीटों पर हुए नामांकन के मामले में तेलंगाना ने अन्य राज्यों को पीछे छोड़ दिया है. चुनाव आयोग द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक इस चरण में 96 सीटों पर चुनाव लड़ने के लिए 2464 आवेदन किए गए थे. इनमें सबसे ज्यादा 1488 आवेदन तेलंगाना की 17 सीटों पर किए गए. तेलंगाना की सभी 17 लोकसभा सीटों पर चौथे चरण में मतदान होगा.

नामांकन पत्रों की जांच में 1970 नामांकन सही पाए गए. इनमें सबसे ज्यादा 625 सही पाए गए आवेदन तेलंगाना के ही थे. इनमें से 100 उम्मीदवारों द्वारा अपना नामांकन वापस लेने के बाद अब तेलंगाना की 17 सीटों के लिए 525 उम्मीदवार चुनाव मैदान में बचे हैं. चौथे चरण वाली 96 सीटों के लिए कुल 1764 उम्मीदवारों में सबसे ज्यादा 525 तेलंगाना से ही हैं. इसके बाद आंध्र प्रदेश की 25 सीटों के लिए 454 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं. आंध्र प्रदेश में उम्मीदवारी के कुल 1103 आवेदन प्राप्त हुए, इनमें से 503 सही पाए.

चौथे चरण के चुनाव में शामिल यूपी की 13 सीटों पर होने वाले चुनाव के लिए उम्मीदवारी के 360 आवेदन मिले थे, इनमें से 138 सही पाए जाने के बाद 8 ने अपना नामांकन वापस ले लिया. अब यूपी में 130 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं. इसी प्रकार एमपी की 8 सीटों के लिए नामांकन के 154 आवेदन किए गए. इनमें से 90 सही पाए जाने के बाद 74 उम्मीदवार चुनाव मैदान में रह गए हैं. शेष ने अपने नामांकलन वापस ले लिए. वहीं जम्मू कश्मीर की श्रीनगर सीट पर नामांकन के लिए 39 आवेदन किए गए. इनमें से 29 आवेदन सही पाए जाने के बाद 5 ने नामांकन वापस ले लिया. अब इस सीट पर 24 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं.

आपराध‍ि छवि वाले उम्मीदवार

चौथे चरण के चुनाव वाली सीटों पर किस्मत आजमा रहे 1717 उम्मीदवारों में से 1710 प्रत्याश‍ियों के हलफनामे का विश्लेषण करने पर पाया गया कि इनमें से 21 फीसदी उम्मीदवारों के विरुद्ध आपराध‍िक मामले दर्ज हैं. चुनाव सुधार से जुड़ी शोध संस्था ADR की रिपोर्ट के मुताबिक चौथे चरण के चुनाव मैदान में शामिल उम्मीदवारों में 360 के विरुद्ध आपराध‍िक मामले दर्ज हैं. इनमें से 274 यानी 16 प्रतिशत उम्मीदवारों के विरुद्ध Serious Criminal Cases दर्ज हैं.

रिपोर्ट के हवाले से अगर उम्मीदवारों की संपत्ति‍ की बात की जाए तो 28 फीसदी या‍नी 476 उम्मीदवार करोड़पति हैं. इस चरण के 1710 उम्मीदवारों के हलफनामे की विश्लेषण रिपोर्ट के मुताबिक इनकी औसत संपदा 11.72 करोड़ रुपये है. इनमें से टीडीपी, शि‍व सेना के दोनों गुट और राजद के सभी उम्मीदवार करोड़पति हैं.

आंध्र प्रदेश में गुंटूर सीट से टीडीपी के उम्मीदवार डॉ चंद्रशेखर पेम्मासानी 5704 करोड़ रुपये की संपत्त‍ि के साथ चौथे चरण के उम्मीदवारों में Richest Candidate हैं. इस चरण में 24 उम्मीदवार ऐसे भी हैं, जिन्होंने अपनी संपत्त‍ि शून्य दिखाई है. चौथे चरण के चुनाव में सबसे कम संपत्त‍ि घोष‍ित करने वाले उम्मीदवार बापातला सीट के निर्दलीय प्रत्याशी कट्टा आनंद बाबू है. उनके पास कुल 7 रुपये हैं. बाबू के पास पेन कार्ड भी नहीं है.

© Association for Democratic Reforms
Privacy And Terms Of Use
Donation Payment Method